दो लापता कारोबारी भाइयों का अभी तक नहीं मिला कोई सुराग, फॉर्च्यूनर छोड़ पैदल जाते CCTV में दिखे

0
54

Patna: नौबतपुर गए दो बड़े व्यवसायियों के अचानक लापता हो जाने के मामले में पटना पुलिस को एक सीसीटीवी फुटेज हाथ लगी है. इसमें दोनों व्यवसायी भाई नौबतपुर बाजार में हाथ में झोले लेकर पैदल जाते दिख रहे हैं. पुलिस की मानें तो जिस व्यक्ति के यहां पैसे वसूली के लिए गए थे उसे हिसाब-किताब करने के बाद अपनी फॉर्च्यूनर (Fortuner) गाड़ी को उस व्यक्ति के ऑफिस के बाहर लगाकर यह लोग वहां से निकल गए. उसके बाद जब पुलिस ने जांच शुरू की तो दोनों व्यक्ति हाथ में झोला लिए नौबतपुर बाजार में घूम रहे थे. अब सवाल यह है कि आखिर इन दोनों व्यक्ति अपनी गाड़ी लगाकर नौबतपुर बाजार में पैदल क्यों गए ?पुलिस सभी संभावनाओं पर जांच कर रही है और हर पहलू पर लगातार जांच में जुटी है.

बता दें कि इस मामले की छानबीन के लिए पटना के सिटी एसपी वेस्ट के नेतृत्व में एसआईटी का गठन किया गया है और फिलहाल पुलिस का कहना है कि जल्द ही मामले का खुलासा होगा. गौरतलब है कि पटना के दो बड़े बिजनेसमैन भाई नौबतपुर के इलाके से अचानक लापता हो गए थे.

दरअसल बड़े चावल कारोबारियों में शुमार और बिहार राइस मिलर एसोसिएशन के उपाध्यक्ष राकेश कुमार गुप्ता अपने सगे भाई अमित कुमार गुप्ता के साथ मंगलवार ( 8 दिसंबर) की दोपहर 2 बजे अपनी फॉर्च्यूनर गाड़ी से पटना के जमाल रोड स्थित घर से नौबतपुर के नगवां स्थित सांई कमल राइस मिल पर अपने पार्टनर राजीव रंजन से हिसाब -किताब करने के लिए पहुंचे थे.

cctv karobari
नौबतपुर से दो बड़े चावल कारोबारी भाई लापता, सीसीटीवी में झोला लेकर पैदल जाते हुए दिख रहे हैं.

बताया जा रहा है किरात में दस बजे तक जब दोनों भाई अपने घर वापस नहीं पहुंचे तब राकेश गुप्ता के पिता भरत प्रसाद ने बेटे के मोबाइल पर सम्पर्क करने की कोशिश की. मोबाइल पर रिंग होता रहा मगर संपर्क नही हो सका. देर रात तक नहीं लौटने पर परिजन ने मोबाइल पर संपर्क किया मोबाइल लगातार स्विच ऑफ मिला.

बताया जा रहा है कि बुधवार को पिता भरत प्रसाद नगवां मिल पर पुत्र के पार्टनर से मिलने पहुंचे तो राजीव रंजन से भेंट नही हो सकी. पता चला कि वे नौबतपुर स्थित अपने ऑफिस पर है. यहां आने पर देखा कि उनके लड़के की फॉर्च्यूनर गाड़ी लगी है, लेकिन उनके दोनों पुत्रों का कुछ अता पता नहीं चल सका. अनहोनी की आशंका को देखते हुए लापता कारोबारी के पिता भरत प्रसाद ने अपने दोनों पुत्रों के गुमशुदगी से संबंधित मामला नौबतपुर थाने में दर्ज करवाया था.

इसके बाद पुलिस ने फॉर्च्यूनर गाड़ी नौबतपुर के नगमा गांव से बरामद गई थी. तभी से पुलिस मामले की छानबीन में जुटी है और अब तक सीसीटीवी फुटेज के अतिरिक्त कुछ खास हासिल नहीं कर पाई है. हालांकि पुलिस यह दावा कर रही है कि जल्दी ही मामले का खुलासा कर लिया जाएगा.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here