CM नीतीश ने पहली बार शराब माफिया की बढ़ती वारदातों पर जतायी चिंता, बिहार पुलिस को दिया ये टास्क

0
254

Patna: बिहार में शराबबंदी के सालों बाद भी नीतीश कुमार इस बात को कबूलने से परहेज करते हैं कि बिहार में शराब बिक्री के लिए माफिया का पूरा नेटवर्क खड़ा हो चुका है. लेकिन अब बढ़ते अपराध को देखते हुए नीतीश भी शराब माफिया को लेकर चौकन्ना हुए हैं. 15 दिनों के अंदर तीसरी बार लॉ एंड ऑर्डर को लेकर हाई लेवल मीटिंग बुलाने वाले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज पुलिस अधिकारियों के सामने स्पष्ट तौर पर संदेश दिया कि शराबबंदी के बावजूद बिहार में ताकत बढ़ा चुके शराब माफिया को खत्म किया जाए.

मुख्यमंत्री ने पुलिस के आला अधिकारियों को आदेश दिया है कि शराब के काले कारोबार में लगे लोगों की पहचान की जाए और उनके खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई हो इतना ही नहीं मुख्यमंत्री ने शराबबंदी का सख्ती से पालन करने का भी दिशा निर्देश अधिकारियों को दिया है.

मुख्यमंत्री ने बिहार के डीजीपी के साथ-साथ मुख्य सचिव और अन्य वरीय अधिकारियों के साथ नेक संवाद में लॉ एंड ऑर्डर को लेकर एक हाई लेवल मीटिंग की. इस दौरान सीएम ने विधि व्यवस्था से संबंधित उच्चस्तरीय समीक्षा बैठक के बाद अधिकारियों को क्राइम कंट्रोल करने के लिए मजबूती से काम करने की बात कही.

सीएम ने कहा कि विधि व्यवस्था बनाए रखना राज्य सरकार की पहली जिम्मेवारी है. सीएम ने कहा कि अपराध नियंत्रण, कानून व्यवस्था के सख्त होने से राज्य में हो रहे विकास कार्यों का वास्तविक लाभ लोगों को मिलेगा.

मुख्यमंत्री ने सभी पुलिस अधिकारियों को अनिवार्य रुप से रात्री गश्ती करने का आदेश दिया है. महिलाओं की सुरक्षा पर विशेष ध्यान रखने और उनके खिलाफ हो रहे अपराध में संलिप्ट लोगों पर कड़ी कार्रवाई करने का आदेश दिया है. इसके साथ ही शराबबंदी का सख्ती से पालन करें, धंधेबाजों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई, ओवरलोडिंग और ट्रैफिक जाम को रोकने के लिए प्रभावी कदम उठाने और भूमि विवाद के समाधान के लिए संबंधित अधिकारियों को नियमित रुप से बैठक करने का आदेश दिया है.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here