दिव्य बिहार
बिहार की हर जानकारी एक साथ एक जगह

जेईई जॉइंट एंट्रेंस एग्जाम (मेन) फरवरी अटेम्प्ट में शुक्रिया वशिष्ठ संस्थान के सभी ग्यारह छात्र क्वालीफाई

0

पटना।महान गणितज्ञ पद्मश्री डा वशिष्ठ नारायण सिंह के द्वारा 15 अगस्त 2019 को पटना के दीघा आशियाना रोड में राम नगरी मोड़ अभियंता नगर में स्थापित शुक्रिया वशिष्ठ संस्थान ने प्रथम वर्ष में ही किर्तिमान स्थापित कर दिया है इस संस्थान में निशुल्क आवासीय भोजन व कोचिंग की सुविधा के साथ इंजीनियरिंग की तैयारी करने वाले सभी 11 बच्चे

जेईई जॉइंट एंट्रेंस एग्जाम (मेन) फरवरी अटेम्प्ट में बेहतरीन पर्सेंटाइल के साथ क्वालीफाई कर गए हैं।डॉ वशिष्ठ नारायण सिंह चैरिटेबल ट्रस्ट के द्वारा संचालित है यह संस्थान।डॉ वशिष्ठ नारायण सिंह के भतीजे मुकेश कुमार सिंह भूषण कुमार सिंह बबलू है संचालक गृह विभाग बिहार सरकार में संयुक्त सचिव चर्चित आईपीएस अधिकारी विकास वैभव यहां आते हैं बच्चों को पढ़ाने।

WhatsApp Image 2021 03 09 at 14.40.50

पीजीएचपीएल ने 2 वर्षों से उठा रखा है पूरे संस्थान का खर्च कहीं से भी नहीं मिलता है ₹1 अनुदान बिना किसी सरकारी व गैर सरकारी सहयोग के चलता है शुक्रिया वशिष्ठ संस्थान.व्यवस्था शुक्रिया वशिष्ट संस्थान ही करता है।सभी चयनित बच्चों के परिवारिक आर्थिक स्थिति काफी डवाडोल है इसी के पिता किसान है तो किसी के पिता दिहारी मजदूर।

संस्थान के निदेशक भूषण कुमार सिंह बबलू ने बताया कि जब यह संस्थान प्रारंभ होगा उसी वर्ष महान गणितज्ञ वशिष्ठ नारायण सिंह का निधन हो गया उसके बाद पटना बाढ़ में डूब गया कि स्थिति सामान्य होने लगी तो पूरे साल भर कोरोना का कहर छा गया लेकिन उनकी टीम ने हिम्मत नहीं हारी तथा प्रयास जारी रखा।पटना के तत्कालीन जिलाधिकारी कुमार रवि वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी विकास वैभव जी ने हिम्मत बढ़ाया तथा वशिष्ट बाबू के भतीजे मुकेश कुमार सिंह ने दिन रात मेहनत की केसी सिन्हा जैसे चर्चित शिक्षक जुड़ें।निस्वार्थ रूप से सभी के परिश्रम के बल पर मेधावी बच्चे इतनी कठिन परीक्षा में सफल हो पाए है

Comments
Loading...